मंदिर में बलि चढ़ने से बची मासूम - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

रविवार, 25 नवंबर 2018

मंदिर में बलि चढ़ने से बची मासूम


बिहार के नालंदा में अंधविश्वास के खौफनाक खेल का ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आप सिहर जाएंगे। एक युवक ने आठ साल की बच्ची को अगवा कर उसकी बलि देने की कोशिश की। घटना के दौरान बच्ची के चिल्लाने की आवाज सुन लोगों ने उसे बचा लिया। 
मंदिर से रहीं चीखें सुन लोगों ने बचाया 
मिली जानकारी के अनुसार नालंदा के खण्डकपर नीलकंठ मंदिर से रविवार की सुबह एक बच्ची के चिल्लाने की आवाज आई। इसे सुन सुबह में उधर से गुजर रहे लोगों ने वहां जाकर देखा। वहां एक युवक बच्ची पर हमला कर रहा था। बताया जा रहा है कि मंदिर में बच्चीकी बलि दी जाने वाली थी। 
घायल बच्ची की हालत गंभीर, हमलावर गिरफ्तार 
मौके पर पहुंचे लोगों ने हमलावर युवक को पकड़कर बच्ची को बचाया और बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेजा, जहां वह भर्ती है। घटना की जानकारी मिलते ही मंदिर के पास भारी भीड़ उमड़ पड़ी। भीड़ ने युवक को पकड़कर जमकर पीटा। बाद में पुलिस उसे छुड़ाकर ले गई। 
मिठाई का लालच दे पास बुलाया, किया हमला 
घायल बच्ची नालंदा के अजीज घाट निवासी संजय चौधरी की आठ साल की पुत्री कुमकुम है। वह मंदिर के पास सहेलियों के साथ खेल रही थी। तभी पटना जिला के दनियावां का निवासी बिट्टू मांझी हाथ में मिठाई लिए आया और बच्ची को मिठाई का लालच देकर अपने पास बुला लिया। 
बच्ची जैसे ही उसके पास पहुंची, सिरफिरे ने अपने दूसरे हाथ में रखे चाकू से उसकी गर्दन, ललाट और चेहरे पर ताबड़तोड़ कई वार कर दिए। फिर उसे जबरन मंदिर में ले गया। घायल बच्ची और उसकी सहेलियां के शोर मचाने पर स्थानीय लोग जुट गए। 
पुलिस कर रही मामले की जांच 
पकड़ा गया युवक अर्धविक्षिप्त बताया जा रहा है। पुलिस जांच कर रही है कि वह अपने घर से 50 किलोमीटर दूर बिहाशरीफ कैसे पहुंचा और उसने मंदिर के पास खेल रही बच्ची को शिकार क्यों बनाया?


 साभार: दैनिक जागरण

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages