सीएम योगी ने कहा-विरोध करने वाले संकीर्ण मानसिकता के शिकार - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

रविवार, 2 दिसंबर 2018

सीएम योगी ने कहा-विरोध करने वाले संकीर्ण मानसिकता के शिकार

कार्यक्रम में शामिल मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इन दिनों व्यस्त दिनचर्या के बाद भी प्रदेश में हर जिले पर पारखी नजर रखे हैं। तेलंगाना में होने वाले विधानसभा चुनाव प्रचार में जाने से पहले प्रयागराज में आज उन्होंने कुंभाभिषेकम का समापन किया। 

कुंभाभिषकम के समापन समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमान जी पर सियासत करने वालों को भी करारा जवाब दिया। उन्होंने हनुमानजी पर दिए गए अपने बयान का बचाव करते हुए विपक्षियों पर करारा प्रहार किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन्हें धर्म के बारे में जानकारी नहींए वही लोग बेवजह बाल की खाल निकलाने पर तुले हुए हैं। ऐसे लोग संकीर्ण मानसिकता के शिकार हैं। 
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसी के काम पर उंगली उठाना आसान होता है। दूसरों पर उंगली उठाने के बजाय अगर हर कोई जिम्मेदारी निभाए तो धरती दिव्य लोक में बदल जाएगी। हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह निभाए तो आयोजन में कमी नहीं दिखेगी। लोग अपनी कमियां दूर करें और दूसरे की गलतियों से सीखें तो देश दिव्य हो सकता है। उन्होंने लोगों की कार्यशैली पर भी प्रहार किया। उन्होंने कहा कि हमें एक दूसरे की कमियां निकालने के बजाए बेहतर कार्य मे सहयोग देना चाहिए।
उन्होंने कहा कि अगर हर व्यक्ति अच्छा काम करने लगे तो समाज की अधिकांश समस्या स्वतरू दूर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुम्भ से दुनियाभर के लोगों को स्वच्छताए राष्ट्रीय एकता और इंसानियत का संदेश मिलेगा। उन्होंने कांची कामकोटि पीठ के कार्यों की तारीफ करते हुए कहा कि इस पीठ ने सनातन परंपरा को संरक्षित किया है। 
इससे पहले कुंभाभिषेकम महोत्सव से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ  महन्त नरेंद्र गिरि अध्यक्ष अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद जगद्गुरु हंसदेवाचार्य  एवं संतोषदास ;सतुवा बाबाद्ध के साथ प्रथम पूजन एवं आरती श्री बड़े हनुमान जी मंदिर में किया। उन्होंने महन्त नरेंद्र गिरि महाराज जी के साथ कुम्भ मेले की तैयारी की जानकारी ली।
कुंभाभिषेकम महोत्सव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस बार प्रयागराज में कुम्भ का आयोजन बेहद भव्य होगा। इस दौरान करीब एक महीने में लोगों को अपने अतीत से जुडऩे का मौका मिलेगा।  सीएम ने कहा कि कुम्भ भारत की सनातन परम्परा मानव कल्याण का सबसे बड़ा सांस्कृतिक व आध्यात्मिक आयोजन है। सनातन परम्परा पूरे विश्व के कल्याण की कामना करती है। कुम्भ महान परम्परा का प्रतिनिधित्व करता है। 

साभार - दैनिक जागरण 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages