मुख्यमंत्री के अपर सचिव ने की 25 मामलों की समीक्षा - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, January 8, 2019

मुख्यमंत्री के अपर सचिव ने की 25 मामलों की समीक्षा

सूचना भवन स्थित जनसंवाद केंद्र में मंगलवार को साप्ताहिक समीक्षा की गयी। इस समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री सचिवालय के अपर सचिव रमाकांत सिंह ने 25 मामलों की समीक्षा की। इस क्रम में रांची के अरगोड़ा अंचलग अंतर्गत ग्वाला टोली की सरकारी जमीप पर अवैध कब्जा, साहिबगंज में अग्निकांड से प्रभावित लोगों को मुआवजा देने संबंधि मामले समेत अन्य मामलों की समीक्षा की गयी तथा प्रावधान के अनुसार त्वरित कार्रवाई करने का भी निर्देष दिया। 

अतिक्रमण हटाने पर दिया जोर

                  रांची जिले के अरगोड़ा अंचल अंतर्गत ग्वाला टोली में स्थित सरकारी जमीन पर खलीकूल गद्दी द्वारा अवैध रूप से कब्जा के मामले में जिसमें आरोपियों की उच्च न्यायालय में दायर याचिका के खारिज होने के बावजूद अब तक अतिक्रमण नहीं हटाया गया है और उक्त स्थल के समीप स्थित प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में कचड़ा फेंकने की वजह से उक्त विद्यालय भी बंद है। जिला के नोडल अधिकारी से इस बाबत पुछे जाने पर बताया गया कि अतिक्रमण हटाने का प्रयास किया गया था परंतु आरोपी पक्ष की ओर से विरोध किए जाने पर सांप्रदायिक तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी थी। इस पर उन्होंने कहा कि मामले में सिर्फ टालमटोल किया जा रहा है क्योंकि सांप्रदायिक तनाव दो संप्रदायों के बीच होता है न कि सरकार व जनता के बीच। उन्होंने जिला के अधिकारी को न्यायालय के आदेश की प्रति उपलब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि उक्त स्थल से अतिक्रमण हटाने की दिशा में कार्यवाई की जा सके।

 मुआवजा देने का निर्देश

         साहिबगंज नगर क्षेत्र के दहिया टोला में 30 नवंबर 2014 को अचानक आग लग जाने से 6 घर पूरी तरह से जल कर राख हो गया था। इस अग्निकांड प्रभावित परिवार के लोगों को सरकारी प्रावधान के अनुसार अब तक क्षतिपूर्ति मुआवजा का भुगतान नहीं किए जाने के मामले की समीक्षा करते हुए श्री रमाकांत सिंह ने संवेदना जाहिर करते हुए कहा कि यह काफी अफसोसजनक घटना है और हम अब तक प्रभावितों की मदद नहीं कर पाये हैं। उन्होंने जिला के नोडल अधिकारी को एक सप्ताह के भीतर प्रभावितों को मुआवजे राशि के साथ साथ प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास दिलाने का आदेश दिया।

संवेदनशील मामलों में लायें तेजी

       गोड्डा की 15 वर्षीया नाबालिग का 6 अप्रैल 2018 को अपहरण कर लिया गया था। डीएसपी गोड्डा ने जानकारी दी कि अनुसंधान के क्रम में तकनीकी विशेषज्ञों की मदद से एक अभियुक्त को 3 सितंबर 2018 को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है तथा प्राथमिक अभियुक्त रंजित कुमार साह के घर की 7 दिसंबर 2018 को कुर्की जब्ती भी की गयी है। अपहृता एवं अभियुक्तों को ट्रेस करने के लिए एक टीम गठित की गयी है जो 13 जनवरी 2019 को चेन्नई रवाना होगी। इसपर समीक्षा में मौजूद एआईजी टू डीजीपी शम्स तबरेज ने डीएसपी को निर्देश देते हुए कहा कि मामले में बेहद संवेदनशीलता की आवश्यकता है। अतः एसपी, गोड्डा के माध्यम से स्थानीय पुलिस की मदद लें। उन्होंने अभियुक्त के परिजनो एवं मित्रों पर नजर रखने का भी निर्देश दिया जिससे कि सही लोकेशन मालूम चल सके।

हत्याकांड में नये सिरे से समीक्षा की जरूरत

खूंटी जिले के जमुदाग वार्ड के 18 वर्षीय कुश कुमार गोप को 28 मार्च 2018 को शेखर सैलून, पिपराटोली में तीन अज्ञात व्यक्तियों ने गोली मार दी गयी थी। जिसमें इलाज के दौरान 29 मार्च 2018 को कुश की मृत्यु हो गई थी। इस संबंध में मृतक के परिजनों ने खूंटी थाने में अंजलि सुनीता गोप के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी लेकिनए अब तक मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस मामले में डीएसपी, खूंटी ने बताया कि अनुसंधान के दौरान कई बिन्दुओं पर विचार करते हुए संदिग्ध लोगों एवं मृतक के मित्रों से पूछताछ की गयी है परंतु अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है एवं तथाकथित आरोपी अंजलि सुनीता गोप का लोकेशन भी घटनास्थल के समीप नहीं पाया गया था। मामले की समीक्षा करते हुए एआईजी टू डीजीपी ने डीएसपी को एसपी, खूंटी एवं अनुसंधानकर्ता से मिलकर सभी बिन्दुओं को नए सिरे से समीक्षा करने का निर्देश दिया ताकि कांड के उद्भेदन में कोई साक्ष्य मिल सके।

शौचालय निर्माण को ले मांगी जानकारी

          पश्चिमी.सिंहभूम के चाईबासा प्रखण्ड अंतर्गत निमडीह पंचायत के गुटुसाई गांव के लगभग 350 में अब तक स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण का कार्य शुरू नहीं किया गया है। इस संबंध में पुछे जाने पर जिला के नोडल अधिकारी ने बताया कि उक्त गांव पूर्व में नगर परिषद के अंतर्गत होने के कारण सर्वेक्षण नहीं हो पाया था। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि वर्तमान में इस गांव का सर्वेक्षण जारी है और एक माह के भीतर कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

समय पर करें पेंशन का भुगतान

           पाकुड़ के 76 वर्षीय तुफ़ीजुल शेख जी को जनवरी 2017 से वृद्धा पेंशन का भुगतान नहीं किए जाने पर जिला के नोडल अधिकारी ने बताया कि लाभुक की पेंशन कभी शुरू ही नहीं की गयी है एवं इन्होंने पेंशन के लिए कुछ दिन पूर्व ही आवेदन दिया है। जनसंवाद केंद्र की तरफ से तुफ़ीजुल शेख जी की पूर्व की पेंशन स्वीकृति की संख्या उपलब्ध कराये जाने पर सरकार के अपर सचिव रमाकांत सिंह ने विभाग को यह निर्देश देते हुए कहा मामले की पुनः जांच करें और यदि लाभुक को पूर्व में पेंशन का लाभ मिल रहा था तो एक सप्ताह के भीतर एरिअर के साथ भुगतान कर पेंशन शुरू करें अथवा नए आवेदन पर कार्रवाही पूर्ण कर पेंशन शुरू करें।

बकाया मानदेय भुगतान कराने का निर्देश

           देवघर के संजय प्रसाद जो अंचल कार्यालयए सारवां में वाहन चालक के पद पर कार्यरत थे। इन्हें 26 अगस्त 2017 से 25 जून 2018 तक के बकाया मानदेय अब तक नहीं किया गया है। इसपर अपर सचिव ने जिला के नोडल अधिकारी को अगले सप्ताह तक बकाया मानदेय का भुगतान कराने का निर्देश दिया।
राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत नित्यानन्द पाठक ने ई.किसान भवन, गढ़वा में भवन निर्माण का कार्य किया था। कार्य के एवज में इन्हें अब तक 3,50,000 रुपये का भुगतान नहीं किए जाने के मामले में संबन्धित विभाग के अधिकारी ने दो से तीन दिनों के भीतर भुगतान कराने का आश्वासन दिया। सरकार के अपर सचिव ने भुगतान कराकर अगले सप्ताह तक मामले की एक रिपोर्ट मांगी है।

                इसके अलावे पयिचमी सिंहभूम, गोड्डा, कोडरमा आदि जिलों से संबंधित मामलों की समीक्षा की गयी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages