ऐसा होता है वृषभ राशि वालों का स्वभाव - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, May 13, 2019

ऐसा होता है वृषभ राशि वालों का स्वभाव


12 राशियों में से दूसरी राशि वृषभ है। इसकी आकृति बैल के समान होती है। काल पुरुष के अंग में मुख से कंठ तक इसका अधिकार है।  यह राशि स्त्री जाति, शीतल स्वभाव वाली, भूमि तत्व, दक्षिण दिशा की स्वामिनी, वात प्रकृति, रात्रि बली, वन निवासी तथा इसका वर्ण श्वेत होता है। यह राशि स्वार्थी स्वभाव, अपने हानि लाभ का पूरा पूरा ख्याल रखने वाली और विद्या व्यसनी है।  इससे मुख, कंठ और गालों  का विचार किया जाता है।
   अब आइये बताते हैं कि वाकई में इस राशि के जातकों का स्वभाव क्या होता है। ऐसे जातकों के मजबूत पक्ष व कमजोरियों के बारे में भी चर्चा करेंगे।

वृषभ राशि के गुण 


इस राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है ऐसे में इस राशि पर शुक्र का आधिपत्य होता है। हलांकि केवल राशि के आधार पर ही किसी व्यक्ति विशेष का शत प्रतिशत स्वभाव नहीं बताया जा सकता है। कुंडली में अन्य बिंदुओं पर भी ध्यान दिया जाता है। केवल वृषभ राषि की ही बात करें तो अलग अलग जातकों में स्वामी ग्रह शुक्र समेत अन्य ग्रहों की स्थिति अलग अलग होगी लिहाजा वे परिणाम भी अलग अलग देंगे। पर इस पोस्ट में उन बेसिक चीजों पर बात करेंगे जो समान्यतया वृषभ राशि वालों में पायी जाती है। अगर आप भी इसी राशि के हैं तो स्वयं आकलन करें कि आपका स्वभाव कितना मेल खाता है। वृषभ राशि के जातक बहुत मेहनती होते हैं, ऐसे लोगों का दिमाग काफी तेज होता है। यहीं नहीं वाकपटुता में चतुर तथा हाजीरजवाब होते हैं। भाषा व साहित्य में गजब की पकड़ होती है। इनकी तार्किक क्षमता भी असाधारण होती है। वहीं इनकी दूसरी बड़ी खासियत इनकी ईमानदारी होती है। ये लोग काफी ईमानदार होते हैं खासकर पैसे के लेनदेन में काफी सतर्क होते हैं। रिश्तों में संतुलन बनाये रखना इन्हें बखूबी आता है। हिम्मत हारना तो जैसे ये लोग जानते ही नहीं है।




      पृथ्वी तत्व होने के कारण इनमें सहनशीलता भी कूट कूट कर भरी होती है। शुक्र ग्रह का प्रभाव होने के कारण सुंदर दिखना या फिर साज-सज्जा का काफी शौक होता है। वस्त्रों का चयन, सलीके से पहनावा, कार्यालय या घर को व्यवस्थित रखना आदि कुछ ऐसे लक्षण हैं जिसे देखते ही आप सहजता से अंदाज लगा लेंगे कि यह शुक्र प्रभावित जातक है संभवतः वृषभ राशि। ये न केवल लजीज व्यंजनों के शौकिन होते हैं बल्कि इन्हें खाना बनाना भी खूब भाता है। जी भर कर जीवन जीना इनका एक मुख्य उद्वेश्य होता है। गायन व कला क्षेत्र में भी अग्रसर होते हैं। इसके अलावा हर रिश्ते को भी ये अहमियत देते हैं। ये जिद्दी किस्म के यानी अपने धुन के पक्के होते हैं।

यहां पर है सस्ते गहनों की एक श्रृंखला। खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।

वृषभ राशि के अवगुण


अगर इन्हें गुस्सा आ जये तो उग्र रूप धारण कर लेते हैं और पूरी तरह से बेकाबू हो जाते हैं। इन्हें अपनी प्रशंसा सुनने की भूख होती है। विलासिता पसंद होने के कारण कई रोगों के भी शिकार हो जाते हैं। अधिकांश अपने बारे में ही सोचना भी ऐसे जातकों का नकारात्मक गुण होता है।

वृषभ राशि वालों के लिए उपाय


ज्योतिषविदों की मानें तो अगर वृषभ राशि के जातकों का रिश्ता व परिजनों से संबंध खराब हो रहा है तो ऐसी स्थिति में शुक्र को मजबूत करने की जरूरत होती है। वहीं लाल किताब के अनुसार किसी भी प्रकार का व्यसन न करें। कोई भी वादा सोच समझकर करें और अगर आपने कर ही लिया है तो कभी भी वादा करके मुकरें नहीं। पत्नी या स़्त्री से कदापि न झगड़े। साथ ही साथ व्याभिचार व अप्राकृतिक कृत्यों से दूर  रहंे। अगर आप में झूठ बोलने की  आदत है तो इसे तत्काल सुधारें। लोगों को अनावश्यक रूप से परेशान करना बंद करें।

यह भी पढ़ें - कुछ ऐसा होता है मेष राशि के जातक का स्वभाव

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages