13 जून को है निर्जला एकादशी - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

शुक्रवार, 7 जून 2019

13 जून को है निर्जला एकादशी

आगामी 13 जून को निर्जला एकादशी व्रत मनाया जायेगा। इस व्रत को भीमसेनी एकादशी  के नाम से भी जाना जाता है। विभिन्न पंचागों के अनुसार  13 जून यानी गुरूवार को सभी के लिए एकादशी का व्रत होगा। शास्त्रों के अनुसार इस व्रत में स्नान व आचमन के अलावा जरा सा भी जल ग्रहण नहीं करना चाहिए। इस व्रत का बहुत महत्व है। निर्जला यानी बिना जल का, इस व्रत के क्रम में पानी पीना भी वर्जित है। एकमात्र इस व्रत के कर लेने से वर्ष में आनेवाले सभी एकादशियों का फल सहज रूप से ही प्राप्त हो जाता है।

                                     निर्जला एकादशी प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्लपक्ष एकादशी को मनाया जाता है। और इस वर्ष यह तिथि 13 जून को पड़ रही है। बताते चलें कि एकादशी तिथि के स्वामी भगवान विष्णु हैं और इस तिथि को भगवान विश्णु की विशेष पूजा की जाती है। इस व्रत को धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाला बताया गया है। कहा जाता है कि भीम के लिए एक दिन उपवास का रखना बहुत मुश्किल था बावजूद  उन्होंने निर्जला उपवास रखकर इस व्रत को पूरा किया।

ऐसे करें निर्जला एकादशी व्रत

                                   व्रत के एक दिन पहले ही शुद्धता व सात्विकता पर ध्यान दें। सात्विक भोजन के साथ-साथ ब्रहमचर्य का पालन भी आवश्यक है। व्रत के दिन कभी भी देर तक सोते न रहें। प्रातः ही उठकर स्नान आदि करते हुए व्रत का संकल्प ले लें। उसके बाद भगवान विष्णु की विधिपुर्वक पूजा अर्चना करें। इस दिन पानी से भरा मटका, पंखा आदि दान करने की भी परंपरा है। व्रत के अगले दिन भी स्नान कर भगवान विष्णु की पूजोपासना करते हुए व्रत का समापन करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Pages