29 सितंबर से होगा नवरात्रि का आरंभ - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, September 28, 2019

29 सितंबर से होगा नवरात्रि का आरंभ

 वर्ष 2019 में नवरात्रि का आरंभ 29 सितंबर से होने वाला है। सनातन धर्म में शारदीय नवरात्रि का अहम महत्व है।

    शारदीय नवरात्रारम्भ 29 सिंतबर 2019, दिन रविवार को होगा। इस दिन ही कलशस्थापन के साथ-साथ श्री दुर्गासप्तशती का पाठारम्भ हो जायेगा। बता दें कि अश्विन शुक्लपक्ष प्रतिपदा तिथि को नवरात्रि का आरंभ होगा। प्रथम दिन शैलपुत्री यानी माता के प्रथम रूप की आराधना होगी। दूसरे दिन सोमवार को देवी ब्रहमचारिणी रूप की पूजा होगी। इसी क्रम में मंगलवार को चंद्रघण्टा, बुधवार को कुषमाण्डा, गुरूवार को स्कंदमाता, शुक्रवार को कात्यायनी व शनिवार को कालरात्रि के रूपों की आराधना होगी। शनिवार, अश्विन शुक्ल सप्तमी को पूजा पंडाल में देवी प्रतिमा की स्थापना होगी। ठीक अगले दिन रविवार को महाअष्टमी व्रत मनाया जायेगा। इस दिन महागौरी के रूप का पूजन है। सोमवार को नवमी व्रत तथा सिद्विदात्री का पूजन होना है, नवमी तिथि को सप्तशती पाठ के बाद होम हवन आदि आयोजित हांेगे और इसी के साथ दुर्गा सप्तशती पाठ का समापन हो जायेगा। प्रतिपदामतानुसार इस बार देवी का आगमन गज पर होगा। इस लिहाज से माता का आगमन अति शुभ माना जा रहा है।

     शक्ति स्वरूपा जगत जननी के नवो स्वरूपों के लिए निर्धारित नवदिन का नवरात्र सनातनियों के लिए शक्ति और उर्जा का स्त्रोत माना जाता है। गृहस्थ अपने घरों में तथा पूजा समितियां पंडालों व दुर्गा मंडपों में भगवती की स्थापना कर देवी की विशेष कृपा के भागी बनेंगे। इस नवरात्र का महात्म्य वैदिक काल से है। देवी का महात्म्य श्री दुर्गा सप्तशती में प्रकट किया गया है। वर्णित है कि शुंभ- निशुंभ व महिषासुर आदि तामसी प्रवृति वाले असुरों का जन्म होने से देवता दुःखी हो गए। सभी ने महामाया की स्तुती की। देवी ने यह कहते हुए देवताओं को  आश्वस्त किया कि वह पराक्रमी असुरों का संहार करेंगी।

Visit here for online shopping. Clothes, electronic items, house hold and many more ...

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages