ऐसे होते हैं कर्क राशि के जातक - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 21 अक्तूबर 2019

ऐसे होते हैं कर्क राशि के जातक

अब तक हम तीन राशियों के बारे में विस्तार से बात कर चुके हैं। मेष, वृषभ और मिथुन राशि के जातकों का स्वभाव साथ ही ऐसे ही जातकों के गुण- अवगुण के बारे में भी विस्तार से बता चुके हैं।

आज हम बात कर रहे हैं राशि चक्र की चैथी राशि कर्क राशि के बारे में। कर्क राशि केकड़े के समान आकृतिवाली जलचर राशि है। कालपुरूष के शरीर में इसका वक्षस्थल पर अधिकार है। स्त्री जाति, चर संज्ञक, उत्तर दिशा की स्वामिनी, कफ प्रकृति, रात्रिबली, मिश्रित रंगवाली, बहुसंतती, खेत- बावड़ी, तट आदि इस राशि का निवास स्थान है। लज्जा, भौतिक सुखों को प्राप्त करने में लगे रहना, स्थिर गति और जमाने की हवा देखकर कार्य करना इसका प्राकृतिक स्वभाव है। उदर, सीना और गुदों का विचार इसी से किया जाता है।

                                 मूलरूप से ऐसे जातकों का स्वभाव संवेदनशील और भावनात्मक होता है। ये अपनी भावनाओं को अच्छी तरह व्यक्त कर पाते हैं। ये मूडी, शर्मीले और कई बार बच्चों की तरह भी लग सकते हैं। ये बेहद अंतर्मुखी होते हैं। सबसे अहम बात यह कि इन्हें आसानी से समझा नहीं जा सकता है। किसी भी क्षेत्र की गहरी जानकारी होती है यही नहीं मीडिया और प्रदर्शन कला के क्षेत्र में नाम कमाते हैं। ये मजबूत और सफल लोगों की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं।
                               चूंकि कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा होता है लिहाजा ऐसे जातक संवेदनशील होने के साथ-साथ कल्पनाशील भी होते हैं। हलांकि स्वभाव थोड़ा उत्तेजनात्मक होता है। ये जितनी शीघ्रता से क्रोधित होते हैं उतनी ही शीघ्रता से शांत से भी हो जाते हैं।
  
                               कर्क राशि वाले जातकों को पर्यटन बहुत अधिक पसंद होता है। गीत- संगीत से बेहद लगाव होता होता है। ऐसे जातक लोकप्रिय होने के साथ-साथ सामाजिक जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं। ऐसे जातकांे का बचपन थोड़ा कठिनाइयों से भरा होता है परंतु मध्यावस्था में वे सफलता अर्जित करते हैं।
इस राशि के जातक अपच, गैस, पेट, लीवर, आंत आदि से संबंधित समस्याओं से परेशान हो सकते हैं। आंख की कमजोरी भी सता सकती है।

              इस के राशि पुरूषों का हृदय बड़ा होता है। यह अपने कार्यों में पूर्ण रूप से सक्षम नहीं हो पाते हैं। यह बहुत जल्दी ही दूसरों से प्रभावित होने वाले होते हैं। तथा इन्हें दूसरे के प्रभाव में रहकर कार्य करने में आनंद आता है।
              इस राशि की स्त्रियां बहुत सहनशील और अपने आपमें किसी भी बात को सीमित रखने वाली होती है। इनके विचार बड़े होते हैं। संकोची स्वभाव होने की वजह से यह कई बार अपने भीतर असुरक्षा की भावना से भी ग्रस्त होते हैं।

नर्स, सफाईकर्मी, नेता और पत्रकार के रूप में उनका बेहतरीन करियर होता है। जब काम करने की बात आती है, तब कर्क के लिए सुरक्षा और पैसा बहुत महत्वपूर्ण है। वे बहुत आसानी से पैसा कमा सकते हैं, लेकिन वे बहुत जल्दी से इसे खर्च भी कर सकते हैं। कर्क बहुत ज्यादा खर्चीले नहीं होते हैं। कर्क बहुत साधन संपन्न है और वह अपने समय और पैसे के प्रबंधन में कुशल होते हैं।मजबूत अंर्तज्ञान युक्त शक्तियों और कल्पनाशीलता के गुण से कर्क राशि के जातक विभिन्न विषयों को सीखने की क्षमता रखते हैं। जिससे ये उत्कृष्ट कलाकार, संगीतकार और मनोविज्ञानी बन सकते हैं। इसके अलावा संवेदनशील प्रकार के  क्षेत्र जैसे कानून, नर्सिंग, शिक्षण और चाइल्डकैयर को भी अपना सकते हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages