छपाक : पर्दे पर उतारी गयी एक दर्दनाक कहानी - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

शुक्रवार, 10 जनवरी 2020

छपाक : पर्दे पर उतारी गयी एक दर्दनाक कहानी

फिल्म   - छपाक
निर्देशक - मेघना गुलजार
कलाकार  - दीपिका पादुकोण, विक्रांत मैसी, अंकित बिष्ट, मधुरजीत सरघी 
शुक्रवार यानी 10 जनवरी 2020 को बाॅलीवुड की दो फिल्में रिलीज हुई। तान्हाजी, द अनसंग वारियर और दूसरी छपाक। पहली जहां एक स्वराज के लिए लड़ रहे योद्धा पर आधारित है वहीं दूसरी फिल्म ऐसीड एटैक की एक पीड़िता की संघर्षभरी कहानी।

फिल्म की कहानी

     इस फिल्म की कहानी ऐसीड एटैक की पीड़िता लक्ष्मी अग्रवाल से प्रेरित है। मालती नामक एक पात्र है जिसके चेहरे पर ऐसीड फेंक दिया जाता है। और इसी दर्दनाक व भयावह घटना तथा उस घटना से उबरने की कोशिश पर पूरी फिल्म चलती है। एसीड न केवल चेहरे को विकृत कर देता है बल्कि पूरी जिंदगी असहनीय दर्द का अनुभव होता रहता है। पीड़िता का हृदय विदाकर चीत्कार सुनना काफी कठिन होता है। पर्दे पर चल रहे दृश्य इतने भयावह है कि उन्हें देखते रहना आसान नहीं लगता। पर्दे पर घटना को देख पाना इतना मुश्किल है तो पीड़िता पर क्या बीतता होगा इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है। हलांकि फिल्म का अंत एक संघर्शषील युवती की जीत पर होता है।

अभिनय

दीपिका पादुकोण का अभिनय लाजवाब है। मालती के किरदार में उनके चेहरे पर दर्द, बेबसी, खुश्ी, हिम्मत हर तरह का भाव देखने को मिल जायेगा। वहीं विक्रांत मैसी ने भी अपने हिस्से का काम जबर्दस्त तरीके से किया है। पूरी तरह से अपने किरदार में ढ़ल गये हैं। स्क्रीन में दीपिका व विक्रांत की जोड़ी काफी जम रही है। दीपिका और विक्रांत के अलावा अंकित बिश्ट, मधुरजीत सरघी जैसे सर्पोटिंग कलाकारों ने उम्दा अभिनय किया है।

                                   कहानी को दर्शकों के बीच काफी सलीके से परोसा गया है। एक दर्दनाक कहानी को बहुत ही खूबसूरती से पर्दे पर उतारा गया है। सिनेमेटोग्राफी व म्यूजिक बहुत बढ़िया है। वहीं अरिजीत सिंह की आवाज दर्शकों को भावुक कर देती है। यह एक ऐसी फिल्म है जिसे देखा जाना चाहिए।

                                                                                                                      - दीपक मिश्रा, देशदुनियावेब 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Pages