बागी 3 : बेजोड़ एक्शन पर नीरस कहानी - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

शुक्रवार, 6 मार्च 2020

बागी 3 : बेजोड़ एक्शन पर नीरस कहानी

फोटो: गूगल सर्च

फिल्म - बागी 3

कलाकार - टाइगर श्राफ, रितेश देशमुख, श्रद्धा कपुर, अंकिता लोखंडे, दिशा पाटनी, जीमल खौरी व अन्य

निर्देशक -  अहमद खान

जाॅनर - एक्शन थ्रिलर


फिल्म बागी 3 के ट्रेलर में अपने दुश्मनों की हड्डियां तोड़ने वाले एक्शन से भले ही टाइगर श्राफ दर्शकों का ध्यान फिल्म की ओर खींचनें की कोशिश करते हैं पर फिल्म के दौरान यही एक्शन नीरस लगने लगता है। एक लाइन में कहा जा सकता है फिल्म में जान ही नहीं है। हलांकि ‘बागी 3‘ टाइगर श्राफ की हिट फ्रेंचाइजी है जिसमें उनका एक्शन हर बार पिछली फिल्म से कहीं ज्याद उम्दा होता है। लेकिन रसहीन कहानी ने इस फिल्म को बोझिल बना दिया है।

                    फिल्म की कहानी की बात करंे तो यह दो ऐसे भाइयों की कहानी हैं जिनमें बहुत प्रेम होता है। आलम यह कि एक को खरोंच भी आ जाय तो दूसरा खून की नदियां बहा देने को उतावला हो जाता है। हलांकि, रक्षक की भूमिका केवल छोटा भाई ही निभाता है। यहां राॅनी यानी छोटे भाई का किरदार टाइगर श्राफ ने निभाया है वहीं विक्रम की भूमिका रितेश देशमुख ने निभायी है। कहानी ऐसे मोड़ लेती है कि अपने भाई को बचाने के लिए राॅनी को सिरिया जाना पड़ता है। और वह वहां किससे व कैसे टकराता है तथा अपने भाई को कैसे बचाता है यही कहानी है।

              अहमद खान ने टाइगर की शानदार बॉडी, हैरतअंगेज  स्टंट और बेजोड़ फाइटिंग का तड़का लगाया है। लेकिन इस चक्कर में वह कहानी रूपी नमक सही से डालने में चूक गए। और यही बात फिल्म के लिए सबसे बड़ी कमजोरी बनकर सामने आती है

              एक्टिंग की बात करें तो टाइगर श्रॉफ एक्शन किंग है। इस बार भी वह जोरदार एक्शन अंदाज में हैं और रॉनी के सिक्स पैक ऐब्स, चेहरे पर किसी को भी धूल चटाते समय कोई भाव न आना आदि फिल्म में उनकी खासियत है। लेकिन कमजोर डायलॉग और कहानी सारे किए कराए पर पानी फेर देते हैं। श्रद्धा कपूर के पास करने को कुछ नहीं था लिहाजा जितना काम उन्हें मिला, उन्होंने सही से किया है। रितेश देशमुख भी ठीकठाक हैं पर ऐसा कुछ नहीं कि थियेटर से बाहर निकलने के बाद भी वह किरदार आपको याद रहे।


            म्यूजिक औसत है, कहानी कमजोर है, और डायलॉग में दम नहीं है। अगर आप इस फिल्म को देखना ही चाहते हैं तो सिर्फ टाइगर श्रॉफ के एक्शन के लिए जा सकते हैं। मुझसे कोई इस फिल्म की रेटिंग पूछे तो मेरा जवाब पांच स्टार में से दो होगा।


                                                                                                                                            - दीपक मिश्रा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages