जानें जुलाई माह में होने वाले व्रत-त्योहार - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 29 जून 2020

जानें जुलाई माह में होने वाले व्रत-त्योहार


यह खबर जुलाई माह में होने वाले व्रत त्योहार पर आधारित है। आइये जानते हैं  जुलाई 2020 में होने वाले व्रत -त्योहार के बारे में ।

1 जुलाई - विष्णुशयनी एकादशी 
   आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को ही देवशयनी एकादशी कहा जाता है। मान्यता है कि देवशयनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु चार महीने की निद्रा में चले जाते हैं। इस पूरे चार महीने के दौरान कोई भी शुभ काम जैसे शादियां, नामकरण, जनेऊ, गृह प्रवेश और मुंडन नहीं होते। चार महीने के अंतराल के बाद देवप्रबोधनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु जाग उठते हैं। इस दिन के बाद से हिंदू धर्म में मांगलिक कार्यों की एक बार फिर शुरुआत हो जाती है।

5 जुलाई - पूर्णिमा

7 जुलाई - संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत
संकष्टी चतुर्थी में भगवान गणेश की पूजा होती है। मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए इस व्रत को फलदायी माना जाता है। बता दें कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है।

16 जुलाई - कामदा एकादशी व्रत
कामदा एकादशी के दिन विष्णु भगवान की पूजा की जाती है। इस दिन व्रत करने से हर तरह के दुख और कष्टों से मुक्ति मिलती है। मान्यता है कि इस दिन व्रत.पूजन करने से अधूरी मनोकामनाएं विष्णु भगवान पूरी करते है। इसलिए इसे फलदा एकादशी या कामदा एकादशी भी कहा जाता है।

20 जुलाई - सोमवती अमावस्या
पौराणिक मान्यताओं के कारण अमावस्या तिथि का सोमवार को पड़ना बेहद सौभाग्यशाली माना जाता है। इस दिन स्नान, दान और ध्यान का विशेष महत्व है।

21 जुलाई - श्रावण शुक्ल पक्ष
 श्रावण शुक्ल पक्ष आरंभ हो रहा है। इस पक्ष में नवमी तिथि की हानि के कारण यह पक्ष चौदह दिनों का है।

22 जुलाई - करपात्री जी महाराज की जयंती
धर्म सम्राट स्वामी करपात्री जी महाराज की जयंती मनायी जायेगी।

24 जुलाई - गणेश चतुर्थी व्रत

25 जुलाई - नागपंचमी
25 जुलाई को नागपंचमी का पर्व होगा। इस दिन गृह द्वार के दोनों तरफ नाग की तस्वीर या गोबर से सर्प की आकृति बनाकर घी, दूघ एवं जल से तर्पण करके दही, दुर्वांकुर, धूप, दीप, पुष्पमाला आदि से विधिपूर्वक पूजन कर गेहूं, दूध, धान का लावा का भोग लगाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि पूजन से पद्म, तक्षक आदि नागगण संतुष्ट होते हैं तथा पूजनकर्ता के सात कुल तक सर्पभय नहीं रहता।

27 जुलाई - तुलसीदास जयंती
गोस्वामी तुलसीदास जी की जयंती मनायी जायेगी।

30 जुलाई - पुत्रदा एकादशी
30 जुलाई को पुत्रदा एकादशी का व्रत होगा। 
        
 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages