विख्यात तीर्थस्थल हुआ वीरान, कमेटी ने मुख्यमंत्री से की यह मांग - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 8 जून 2020

विख्यात तीर्थस्थल हुआ वीरान, कमेटी ने मुख्यमंत्री से की यह मांग


लगभग अस्सी दिनों की लंबी अवधि के बाद आज देश के कई मंदिरों के दरवाजे भक्तों के लिए खोल दिए गए हलांकि कई तरह की पाबंदियां थी। भक्तों ने मास्क, सेनिटाइजर आदि का प्रयोग करते हुए दर्शन किया। लेकिन झारखंड सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश के अनुसार यहां के धर्मस्थल बंद ही रहे। द्वादश ज्योर्तिलिंगों में से एक बाबा बैद्यनाथधाम तथा शक्तिपीठ रजरप्पा बंद ही रहे। कुछ वैसी ही स्थिति पारसनाथ व मधुबन की भी रही।


विदित हो कि झारखंड के सर्वोच्च पर्वत होने का गौरव प्राप्त पारसनाथ पर्वत जैन धर्मावलंबियों का विश्वविख्यात तीर्थस्थल है। 24 में से 20 तीर्थंकरों ने यहीं से निर्वाण प्राप्त किया है ऐसे में यहां की महत्ता को आसानी से समझा जा सकता है।
                पारसनाथ पर्वत तथा इसकी खूबसूरत वादियो में बसा मधुबन बंद मंदिर व तीर्थयात्रियों के न होने से वीरान हो गया है। यहां के धर्मशालाओं व दुकानदारों में संशय की स्थिति है। ऐसे में मधुबन की एक संस्था भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखकर मधुबन में व्याप्त समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट कराने की कोशिश की है। दिए गए पत्र में लिखा है कि मधुबन जैन धर्मावलिंबयों का मुख्य व पवित्रतम तीर्थस्थल है जहां प्रतिवर्ष भारी संख्या में तीर्थयात्री पूजोपासना को ले पहुंचते हैं। यही वजह है कि आसपास के ग्रामीणों का रोजगार भी मधुबन पर ही आश्रित है।
        सुरक्षा को ले लागू किए गए लॉकडाउन के दरम्यान यहां के लोगों के समक्ष कई तरह की समस्यायें उत्पन्न हो गयी है। यहां के लोगों के रोजगार, व्यवसाय, वाहन चालक, डोली मजदूर आदि पर प्रतिकुल असर पड़ रहा है।
श्रावण सप्तमी करीब आ चुकी है जिसमें देश के सभी प्रांतों से हजारों लोग भगवान पार्श्वनाथ को निर्वाण लड्डू अर्पित करने पहुंचते हैं। लेकिन वर्तमान समय में सभी निराश हैं।

       झारखंड सरकार से धर्मस्थलों से संबंधित गाइडलाइन की मांग की है। यह जानकारी श्री दिगंबर जैन शाश्वत तीर्थराज सम्मेदशिखर शाश्वत ट्रस्ट के महामंत्री राजकुमार जैन अजमेरा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages