नवरात्र के पहले ही शुरू हो सकता है 78 ट्रेनों का संचालन - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

गुरुवार, 8 अक्तूबर 2020

नवरात्र के पहले ही शुरू हो सकता है 78 ट्रेनों का संचालन


 भारतीय रेलवे ने नवरात्र शुरू होने से पहले 39 जोड़ी (78) स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए बुधवार को हरी झंडी दे दी जो विभिन्न जोनों में सुविधानुसार चलाई जाएंगी। इन ट्रेनों में ज्यादातर एसी स्पेशल, राजधानी, शताब्दी और दूरंतो श्रेणी की होंगी। नवरात्र के पहले ही दिन निजी क्षेत्र की प्रमुख ट्रेन तेजस शुरू होगी। इनमें पहली तेजस दिल्ली से लखनऊ और दूसरी अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलेगी। तेजस ट्रेन में यात्रा करने वालों के लिए कोरोना से बचाव के विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। यात्रियों को आरोग्य सेतु एप के बगैर यात्रा की अनुमति नहीं होगी। रेलवे मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि ये ट्रेनें स्पेशल ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी। हालांकि यह नहीं बताया गया है कि ये ट्रेनें कब चलेंगी। रेलवे का कहना है कि इन्हें जल्दी से जल्दी सुविधाजनक तारीख से शुरू किया जाएगा।

यात्रियों की बढ़ती मांग के मद्देनजर रेलवे बोर्ड ने अन्य स्पेशल 78 ट्रेनों को चलाने की अनुमति दी है। इन ट्रेनों का चयन उन्हीं रूटों के लिए किया गया है जिन पर यात्रियों का अधिक दबाव है। ट्रेनों के चालू होने की तिथि की घोषणा जोन स्तर पर की जाएगी। लेकिन तेजस का संचालन 17 अक्टूबर को नवरात्र शुरू होने के साथ चालू हो जाएगा।

कोविड-19 के चलते उत्तराखंड और महाराष्ट्र में कई तरह की पाबंदियों के चलते इन राज्यों के लिए ट्रेनों की संख्या बहुत सीमित थी। इन स्पेशल ट्रेनों की खेप में हरिद्वार और देहरादून से मुंबई के बीच ट्रेनों के संचालन की अनुमति दी गई है। पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा था कि कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्यों की सहमति से ही ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा सकेगी। लेकिन अब पूरी तरह अनलॉक होने के बाद ट्रेनों की संख्या में इजाफा हो सकता है। माता वैष्णो देवी के लिए भी ट्रेन चालू होगी।

आइआरसीटीसी के मुताबिक, तेजस में यात्रा के लिए ट्रेन में एक सीट छोड़कर बैठना होगा। एक बार सीट पर बैठने के बाद किसी सीट के साथ अदला-बदली नहीं होगी। ट्रेन में प्रत्येक यात्री को मास्क, सैनिटाइजर और ग्लव्स आदि वस्तुएं प्रदान की जाएंगी। यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाएगा।

प्रमुख ट्रेनें :-

* लोकमान्य तिलक टर्मिनल - हरिद्वार (एसी एक्सप्रेस)

* लोकमान्य तिलक टर्मिनल - लखनऊ (एसी एक्सप्रेस)

* नागपुर - अमृतसर (एसी एक्सप्रेस)

* कामाख्या - लोकमान्य तिलक टर्मिनल (एसी एक्सप्रेस)

* निजामुद्दीन - पुणे (एसी एक्सप्रेस)

* आनंद विहार - नाहरलगुन (एसी एक्सप्रेस)

* नई दिल्ली - कटरा (एसी एक्सप्रेस)

* हावड़ा - यशवंतपुर (एसी एक्सप्रेस)

* भुवनेश्वर - आनंद विहार (एसी एक्सप्रेस)

* भुवनेश्वर - नई दिल्ली (दूरंतो)

* निजामुद्दीन - पुणे (दूरंतो)

* हावड़ा - पुणे (दूरंतो)

* चेन्नई - निजामुद्दीन (दूरंतो)

* डिब्रूगढ़ - नई दिल्ली (राजधानी)

* मुंबई सेंट्रल - निजामुद्दीन (राजधानी)

* बांद्रा टर्मिनल - निजामुद्दीन (युवा एक्सप्रेस)

* नई दिल्ली - हबीबगंज (शताब्दी)

* नई दिल्ली - अमृतसर (शताब्दी)

* नई दिल्ली - देहरादून (शताब्दी)

* हावड़ा - रांची (शताब्दी)

* नई दिल्ली - श्री माता वैष्णो देवी कटरा (वंदे भारत)

* जयपुर - दिल्ली सराय रोहिल्ला (डबल डेकर)

रेलवे ने यात्रियों को एक खास सुविधा देने जा रहा है। इसके तहत इंडियन रेलवे ट्रेन रिजर्वेशन चार्ट की टाइमिंग में बदलाव करने जा रही है। 10 अक्टूबर से रेलवे का दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन के छूटने से 30 मिनट पहले ही बनेगा। फिलहाल कोरोना काल में चार्ट 2 घंटे पहले बनाया जा रहा है। कोरोना काल में बदलाव करते हुए रेलवे ने दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने के 2 घंटे पहले बनाना तय किया था। लेकिन 10 अक्टूबर से दोबारा से नियम में बदलाव होगा। इसके बाद से दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने के समय से 30 मिनट पहले बनेगा। दूसरा चार्ट तैयार होने से पहले टिकट बुकिंग की सुविधा ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों पर उपलब्ध रहेगी।

अब ये व्यवस्था होगी लागू

10 अक्टूबर से रिजर्वेशन का पहला चार्ट ट्रेन खुलने से कम से कम 4 घंटे पहले तैयार किया जाएगा। इसमें खाली सीटें या बर्थ की बुकिंग अन्य यात्री ऑनलाइन या काउंटर से करा सकेंगे। इसके बाद दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले तैयार होगा। इस टाइम टेबल में पहले से बुक टिकटों को कैंसिल कराने का भी प्रावधान होगा।

15 अक्टूबर से चलाई जाएंगी 200 विशेष ट्रेनें : रेलवे बोर्ड 

बता दें कि इससे पहले रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ वीके यादव ने बताया था कि भारतीय रेलवे (Indian Railway) त्यौहारी सीजन (festive season) में 15 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच 200 विशेष ट्रेनें चलाने की योजना बना रही है। रेलवे ने फिलहाल सभी सामान्य यात्री ट्रेनों को अनिश्चितकाल के लिए रद कर दिया है। कोरोना महामारी के चलते ये ट्रेनें 22 मार्च से रद हैं।

 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages