लंगटा बाब की समाधि पर इस वर्ष मेला नहीं लगाने का निर्णय - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

रविवार, 17 जनवरी 2021

लंगटा बाब की समाधि पर इस वर्ष मेला नहीं लगाने का निर्णय

 


 गिरिडीह के जमुआ प्रखंड स्थित खरगडीहा में लंगटा बाबा के 111वें समाधि पर्व पर भक्तगण कोविड को ले जारी गाईडलाइंस का पालन करते हुए चादरपोशी करेंगे पर इस वर्ष मेला का आयोजन नहीं होगा। कोविड के प्रकोप को देखते हुए प्रशासन ने मेला लगाने की अनुमति नहीं दी है। मालूम हो कि पौष पूर्णिमा के दिन प्रतिवर्ष समाधि पर्व मनाया जाता है जिसमें हजारों की संख्या में भक्तगण चादरपोषी करते हैं।
      पर इस वर्ष सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि समाधि पर्व के अवसर किसी भी प्रकार के मेले का आयोजन नहीं किया जायेगा। समाधि परिसर के दोनों तरफ तीन-तीन सौ मीटर की परिधि में किसी भी प्रकार की कोई दुकान नहीं लगेगी। बाबा की समाधि पर चादरपोशी आने वाले भक्तों को सावधानियां बरतनी होगी। हैंड सेनिटाइजेषन, मास्क व दो गज की दूरी का सख्ती से पालन करना होगा। वहीं मंदिर के गर्भगृह में भी केवल पुजारी को रहने की इजाजत होगी। कतारबद्ध होकर भक्तगण अंदर जायेंगे और शीघ्रता से चादरपोशी कर बाहर आ जायेंगे। यहां तक की अंदर में अगरबत्ती जलाने की भी मनाही होगी।
बताया जाता है कि लंगटा बाबा ने वर्श 1910 को पौष पूर्णिमा में समाधि ली थी। उसी समय से प्रतिवर्ष यहां पौष पूर्णिमा के दिन समाधि पर्व का आयोजन किया जाता है। स्थानीय लोगों के अनुसार वर्ष 1870 में नागा साधुओं का एक जत्था देवघर जाने के क्रम में खरगडीहा थाना परिसर में विश्राम के लिए रूका था। सभी साधु अपने गंत्व्य के लिए रवाना हो गए लेकिन लंगटा बाबा उसी स्थल पर धुनी रमाकर बैठ गए थे।
                                                                                                                        

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages