महाशिवरात्रि पर स्नान को ले चाक चैबंद होगी व्यवस्था - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

सोमवार, 8 मार्च 2021

महाशिवरात्रि पर स्नान को ले चाक चैबंद होगी व्यवस्था

DDW, DESK - हरिद्वार में चल रहे कुंभ के दरम्यान महाशिवरात्रि को विशेष स्नान होगा। इस स्नान के दौरान किसी भी साधु-संत व श्रद्वालु को किसी प्रकारी की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए मेला प्रशासन द्वारा पूरी तैयारी कर ली है। इस क्रम में मेला प्रशासन के अधिकारियों ने अखाड़ा के संतो से विचार-विमर्श भी किया है। बताते चलें कि पंरपरा के अनुसार महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर अखाड़े स्नान करेंगे। सर्वप्रथम जूना अखाड़ा स्नान करेगा उसके बाद पंचावती अखाड़ा, निरंजनी और अन्य अखाडे़ स्नान करेंगे। स्नान का समय तय कर लिया गया है और निर्धारित समय के अनुसार अखाड़े स्नान करेंगे। वहीं आम श्रद्धालुओं के लिए हर की पौड़ी के घाट सुबह आठ बजे तक ही खुले रहेंगे।
            स्नान की महत्ता को देखते हुए अंदाजा लगाया जा रहा है कि पहला स्नान मेला प्रशासन के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा। हलांकि किसी भी भक्त को किसी भी तरह की समस्या न हो इसके लिए मेला प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है।

ट्रैफिक व्यवस्था होगी दुरूस्त

11 मार्च को महाशिवरात्रि स्नान पर्व पर अपर रोड पर वन वे व्यवस्था लागू रहेगी। सन्यासी अखाड़ों का हरकी पौड़ी पर स्नान के लिए अपर रोड से आवागमन होने के चलते यह व्यवस्था बनायी गयी है। श्रद्धालु अपर रोड से आवाजाही नहीं कर पायेंगे। मालूम हो कि हर कुंभ मेले में महाशिवरात्रि स्नान पर्व को शाही स्नान की संज्ञा दी जाती थी। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। हलांकि महाशिवरात्रि पर होने वाली हरेक व्यवस्था शाही स्नान की तर्ज पर ही होगी।

महाशिवरात्रि को ले उमड़ रही श्रद्धालुओं की भीड़

जैसे -जैसे शिवरात्रि समीप आती जा रही है धर्मनगरी भी शिव के रंग में रंगने लगी है। बड़ी तादाद में कांवड़ यात्री गंगाजल लेने हरिद्वार पहुंच रहे हैं। वहीं जिन्होंने जल भर लिया उनके कदम अपने गंत्व्य की ओर बढ़ने भी लगे हैं। महाशिवरात्रि पर अपने क्षेत्र के शिवालयों में गंगा जल अर्पित करने को ले भारी संख्या में कांवड़ यात्री हरिद्वार पहुंचते हैं।

कोविड नियमों को पालन करने की अपील

कोरोना का डर अभी तक गया नहीं है ऐसे में कुंभ मेले में आनेवाले हरेक व्यक्ति को कोविड के नियमों के प्रति गंभीर होने की जरूरत है। एक ओर जहां राज्य सरकार कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए एसओपी जारी कर रही है वहीं साधु संत भी मेले में आने वाले भक्तों से कोविड नियमों के पालन की अपील कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages