कलशस्थापना के साथ शुरू हई वासंतिक नवरात्र - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

मंगलवार, 13 अप्रैल 2021

कलशस्थापना के साथ शुरू हई वासंतिक नवरात्र

वासंतिक नवरात्र प्रारंभ हो चुका है। और नवरात्र के प्रथम दिन कलश स्थापना की गयी। नवरात्र के दौरान प्रतिदिन श्री दुर्गासप्तशती का पाठ किया जायेगा। इसी क्रम में माता के नवों स्वरूपों की आराधना की जायेगी। मंगलवार को वैदिक मंत्रोच्चार के साथ कलश की स्थापना की गयी। वहीं सप्तशती का पाठ किया गया। विभिन्न दुर्गामंडपों के अलावा कई भक्तगण अपने घर में ही कलश स्थापित कर पाठ करते हुए शक्ति की आराधना कर रहे हैं।कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार हर जगह सादगी से ही पूजा की जा रही है। 

नवरात्रि के दौरान श्री दुर्गासप्तशती का पाठ किया जाता है। दुर्गासप्तशती में माता की महिमा का बखान किया गया है। इसमें भगवती की महिमा के साथ-साथ कई गूढ़ रहस्य भी दिए गए हैं। पूरी भक्ति के साथ पाठ करने से हर तरह की मानोकामना पूर्ति होती है। मेरी भी कोशिश रहेगी कि नवरात्रि के दौरान माता द्वारा किए गए मंगलकार्यों (सप्तशती से उद्घृत) का विवरण आपके समक्ष रखूं। ये सभी ऐसी कथायें है जिसके श्रवण मात्र से भक्तों का कल्याण हो जाता है।

13 अप्रैल से नवसंवत्सर 2078 की भी शुरूआत हो गयी है। इस संवत्सर के राजा तथा मंत्री मंगल ही होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages