कहीं ले न डूबे यह लापरवाही - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

रविवार, 18 अप्रैल 2021

कहीं ले न डूबे यह लापरवाही

उठक-बैठक करता बिना मास्क का युवक
उठक-बैठक करता बिना मास्क का युवक
 टी.वी, अखबार, साॅशल मिडिया जहां भी देखें कोरोना की भयावह तस्वीरों को दर्शाती खबरें भरी पड़ी हैं। आलम यह है कि अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे हैं। एक ही बेड में दो-दो मरीजों को मृत्यु से जुझते देखा जा सकता है। स्थिति की भयावहता यह कि श्मशान में अंति संस्कार के लिए जगह नहीं मिल रही है। शवों को कतार में रखा जा रहा है। यही नहीं जगह- जगह लगे बैनर पोस्टर लोगों से चीख-चीखकर मास्क लगाने को बोल रहे हैं। पर कई ऐसे लोग हैं जिनके कान में जूं तक नहीं रेंग रहा। बिना मास्क लगाये सड़कों पर घूमना अपनी शान समझ रहे हैं। जब मास्क लगाना ही मुश्किल है तो ऐसे लोगों के लिए साॅशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन बात बेमानी होगी। ऐसे में इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है कि इनकी लापरवाही दूसरों को भी लेकर डूब सकती है।

 

आम तौर खुद की करनी खुद ही भरनी पड़ती है। पर कोरोना संक्रमण के मामले में खुद की गलती का खामियाजा पूरे परिवार को भुगतना पड़ सकता है। एक छोटी सी गलती पूरे परिवार को तबाह कर सकती है।एक छोटी सी गलती पूरे परिवार को तबाह कर सकती है। यही नहीं विभिन्न सब्जी मंडियों या बाजार में उमड़ रही भी संक्रमण का सुपर स्प्रेडर बन सकती है। लोगों को समझना चाहिए कि खरीददारी के क्रम में कहीं ऐसा न हो कि सामान लाने के साथ-साथ संक्रमण भी घर ले आयें। आप रेल में हो या बस में या फिर बाजार में कोरोना के नियमों की धज्जिया उड़ते आसानी से देख सकते हैं। वैसे भी कुछ लोग मिल जायेंगे जो मास्क तो लगाये मिलेंगे पर मास्क मुहं, नाक को कवर न करते हुए ठोढ़ी में लटका रहता है। वहीं कुछ मास्क पहनते भी हैं  तो केवल पुलिस से बचने के लिए। कई जगह आपको ऐसे लोगों पर पुलिस द्वारा कार्रवाई भी की जाती है। पर दंड मिलने के कुछ देर बाद सब कुछ भूलकर पुर्ववत स्थिति में आ जाते हैं। मास्क लगाना ही भारी पड़ रहा है तो शारीरिक दूरी के पालन की बात करना बेमानी होगी। पर ऐसे लोगों को समझने की जरूरत है कि मास्क लगाने से ये किसी पर अहसान नहीं कर रहे हैं बल्कि खुद व अपने परिवार की रक्षा कर रहे हैं।

अब तक जो नहीं कर रहे थे वह अब भूल जाइये। मास्क को एक अभिन्न अंग बनाइये तथा साॅशल दूरी का पालन करिये जिससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही हम सब अर्थात परिवार व समाज सुरक्षित रहेगा।

 

                                                                                                                      दीपक मिश्रा, देशदुनियावेब

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages