वांसतिक नवरात्र 13 अप्रैल से - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

बुधवार, 7 अप्रैल 2021

वांसतिक नवरात्र 13 अप्रैल से

 


चैत्र नवरात्र अर्थात वांसतिक नवरात्र की शुरूआत 13 अप्रैल से हो रही है। 13 अप्रैल को कलश स्थापन के साथ ही शक्ति की अराधना पूरी भक्ति से की जायेगी। शक्ति की आराधना पूरे वर्ष में चार बार की जाती है। पर अश्विन व चैत्र में मनायी जाने वाली नवरात्रि ज्यादा लोकप्रिय है। वहीं भारत में आम जनता के बीच अश्विन मास की नवरात्रि ज्यादा प्रचलित है। इस दिन उत्सव का माहौल रहता है। बाकी बची दो आषाढ़ और पौष माह की नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि कहते हैं। यह नवरात्रि साधना के लिए महत्वपूर्ण होती है।

 


13 अप्रैल से वासंतिक नवरात्र शुरू

13 अप्रैल से वासंतिक नवरात्र शुरू हो रही है। वाराणसी से प्रकाशित पंचांगों के अनुसार प्रातःकाल से लेकर सुबह 846 बजे कलश स्थापना करना बहुत ही शुभ होगा। कल स्थापना के साथ ही भक्तगण भगवती के नौ स्वरूपों की पूजा-आराधना करेंगे। प्रतिपदा, द्वितीय, तृतीया आदि तिथियों में देवी के अलग अलग रूपों की पूजा करते हुए नवमी तिथि के दिन नवमी पूजा की जायेगी। इस दिन नव रूपों की पूजा के समापन पर हवन-पूजन भी किया जायेगा।

 

21 अप्रैल को रामनवमी

महानवमी के साथ-साथ 21 अप्रैल को रामनवमी का भी उत्सव मनाया जायेगा। रामनवमी को मर्यादा पुरूषोत्तम प्रभु श्री राम का जन्मोत्सव मनाया जायेगा। 

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                     

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages