'अब आर्थिक रूप से कमजोर सराक श्रद्धालु भी आसानी से करेंगे शिखरजी यात्रा' - deshduniyaweb

deshduniyaweb

Local, National and International News

Breaking

मंगलवार, 9 नवंबर 2021

'अब आर्थिक रूप से कमजोर सराक श्रद्धालु भी आसानी से करेंगे शिखरजी यात्रा'

 अब आर्थिक रूप से कमजोर सराक श्रद्धालु भी आसानी से करेंगे शिखरजी यात्रा

 

दीप प्रज्जवलन करते अतिथिगण

अब आर्थिक रूप से कमजोर किसी भी सराक समाज के सदस्य को शिखरजी की यात्रा करने में आर्थिक कमजोरी आड़े नहीं आयेगी। सराक समाज के सदस्यों को मात्र पच्चीस रूप्ये में आवास व भोजन की व्यवस्था उपलब्ध करायी जायेगी। इस योजना के तहत कोई भी सराक व्यक्ति 25 रूप्ये प्रति व्यक्ति प्रति दिन के हिसाब से यहां रह कर पूजोपासना कर सकता है। इस कार्यक्रम को विधिवत उद्घाटन मंगलवार को मधुबन स्थित नाहर भवन में किया गया।
  बताया जाता है कि  मधुबन स्थित नाहर भवन में मंगलवार को ‘हम चलें शिखरजी सब चलें शिखरजी‘ योजना की शुरूआत की गयी। कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन मुनि क्षमाशेखर विजय जी महाराज, मुनि हेमश्ेाखर जी, रिमशेखर विजय जी महाराज व हितशेखर महाराज के सान्निध्य में किया गया। इस योजना के तहत  गरीब तबके के सराक समाज के सदस्यों को तीर्थयात्रा में सहयोग करना है। कार्यक्रम में वक्ताओं ने बताया कि मधुबन के धर्मषालाओं व भोजनाषालओं में का खर्च ज्यादा होने के कारण गरीब तबके के लोग शिखर जी की यात्रा से वंचित रह जाते हैं। पर अब ऐसा नहीं होगा। नाहर भवन में मात्र 25 रूप्ये में ठहरने दिया जायेगा साथ ही भोजन भी दिया जायेगा। यह व्यवस्था राज परिवार, शेठ आंनद जी कल्याण जी ट्रस्ट व समकित ग्रुप द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। इस योजना से वैसे व्यक्तियों को काफी लाभ होगा जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं। कार्यक्रम में मुनि श्री के अलावा आनंद कल्याणाजी ट्रस्ट के प्रतिनिधि बिनोद कुमार बागचर, विजय सिन्हा, कल्पेश भाई, अभय जी, सजल जैन, मनोरंजन सराक, विकास सराक, मिहिर जैन समेत सराक क्षेत्र के विभिन्न स्थलों से आये श्रद्धालु उपस्थित थे।
 

पुण्य अर्जन करने का मिल रहा है मौक: मुनि श्री
कार्यक्रम के दौरान मुनि हेमशेखर विजय जी महाराज ने कहा कि लोगों को इस योजना का लाभ उठाना चाहिए। आर्थिक तंगी के कारण शिखरजी यात्रा का सपना पूरा नहीं हो पाता था।  लेकिन अब तीर्थयात्रा में विपन्नता आड़े नहीं आएगी।

 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Pages